Saturday, February 21, 2015

वीर-रस

चलें हैं फिर आज हम तो
पुनः सत्य के शूलों पे
उतरें हैं फिर आज हम तो
पुनः अग्नि के कुंडों में
अवगत थे न हम कभी
जीवन की किसी सरलता से
मरुस्थल में पुष्प को खिलाना
वीरों से सीखा है हमने

No comments:

A story about Bhagavan Ramana Maharshi's Impact

 A man once boarded the wrong train and ended up in Tamil Nadu near Arunachala in Tamil Nadu, a holy pilgrim site that has moved many a seer...